रायबरेली में पुजारी की मौत को साम्प्रदायिक रंग देने की कोशिश

रायबरेली में मंदिर के पुजारी की मौत के मामले को दिया गया सांप्रदायिक रंग

ट्विटर यूजर रविंदर फौजदार ने एक तस्वीर ट्वीट की जिसमें एक बूढ़ा व्यक्ति फंदे से लटक कर आत्महत्या किया हुआ दिख रहा है। इस तस्वीर के साथ प्रसारित संदेश में दावा किया गया है कि रायबरेली के राम जानकी मंदिर के एक और पुजारी की ‘जिहादियों’ द्वारा हत्या कर दी गई। इस संदेश में आगे दावा किया गया है कि उसकी हत्या करके बाद में टांग दिया गया। फौजदार के ट्विटर परिचय के अनुसार वे भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के उपाध्यक्ष हैं।


कई दूसरे सोशल मीडिया यूजर्स ने ट्विटर और फेसबुक पर दावे किए हैं कि पुजारी की हत्या ‘जिहादियों’ द्वारा की गई है। इनमें ‘जिहादियों’ शब्द का उपहासपूर्ण उपयोग मुस्लिम समाज को संदर्भित करने के लिए किया गया है।

कोई साम्प्रदायिक मामला नहीं

रायबरेली पुलिस के आधिकारिक हैंडल से एक प्रेस नोट ट्वीट किया गया, जिसमें इस मामले के आरोपियों की सूची शामिल है। इस प्रेस नोट के अनुसार कुल छह लोग गिरफ्तार किए गए हैं और उनमें कोई भी मुस्लिम समाज से नहीं है। सोशल मीडिया में वायरल दावे को लेकर रायबरेली पुलिस द्वारा दूसरे ट्वीट से इसे भी स्पष्ट किया गया था।

राम जानकी मंदिर के पुजारी बाबा प्रेम दास की कथित रूप से 2 जनवरी को हत्या करके मंदिर के प्रवेश स्थान पर टांग दिया गया था। हिंदुस्तान टाइम्स में 4 जनवरी 2019 को प्रकाशित खबर के अनुसार, “पुलिस ने, मौनी बाबा — जो मंदिर ट्रस्ट से भी जुड़े हैं — की शिकायत पर, पंचशील महाविद्यालय (डिग्री कॉलेज) के मालिक बीएन मौर्य — जिन्होंने कथित रूप से मंदिर ट्रस्ट की 11-बीघा जमीन पर कब्जा कर रखा है – और उनके तीन सहयोगियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।  ” – (अनुवादित)


जब रायबरेली के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शशि शेखर सिंह से इस बाबत बात की,उन्होंने अपराधियों के मुस्लिम समुदाय का होने दावे को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा, “सभी आरोपी हिन्दू समुदाय के हैं और वायरल दावा एकदम झूठा है। इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है।”

एक मौत का मामला जिसकी अभी जाँच चल रही है, उसके बारे में गलत तरीके से यह बताते हुए कि मुस्लिम समुदाय के लोगों ने यह अपराध किया, मामले को साम्प्रदायिक रंग देकर प्रसारित किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here