आसानी से टेंपर हो सकती है ईवीएम, मैंने कर के दिखा दी तो जेल में डाल देंगे

वैज्ञानिक का दावा

उन्होंने कहा कि विश्व के सभी विकसित देश ईवीएम को छोडक़र मतपत्र की तरफ लौट रहे हैं, तब हम ईवीएम से ही लोकतंत्र को चलाने पर अड़े हैं.
शायर और वैज्ञानिक गौहर रजा ने दावा किया है कि ईवीएम को आसानी से टेंपर किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि अगर उन्होंने या किसी ओर ने ये करके दिखा दिया तो उसे चोर साबित कर जेल में डाल दिया जाएगा.
दरअसल वैज्ञानिक गौहर रजा अभ्यास मंडल की 60वीं ग्रीष्म कालीन व्याख्यानमाला में बतौर वक्ता शामिल होने आए थे. रजा वैज्ञानिक दृष्टिकोण पर मंडराते खतरे विषय पर संबोधित कर रहे थे.

ऐसी कोई मशीन नहीं है, जिसे टेंपर नहीं किया जा सके

उन्होंने कहा कि विश्व के सभी विकसित देश ईवीएम को छोडक़र मतपत्र की तरफ लौट रहे हैं, तब हम ईवीएम से ही लोकतंत्र को चलाने पर अड़े हैं. पिछले दिनों अमरीका की एसोसिएशन ऑफ साइंस, टेक्नोलॉजी एंड मेडिसिन ने कहा कि ऐसी कोई मशीन नहीं है, जिसे टेंपर नहीं किया जा सके. चुनाव आयोग का दावा है ईवीएम पूरी तरह सुरक्षित है, लेकिन यह भी हकीकत है कि इस मशीन में लगने वाली चिप अमेरिका, जापान और अन्य देशों से बनकर आ रही है.

गौतम की तरह उसे चोर घोषित कर जेल में डाल दिया जाएगा

ऐसे में यह सवाल भी खड़ा है कि जो देश चिप बना कर भेज रहे हैं, क्या वे ऐसी सुरक्षित मशीन नहीं बना सकते. अमेरिका और अन्य देश हमसे चुनाव कराने के लिए तकनीक और मशीन नहीं मांगते. सवाल उठा, जब चुनाव आयोग ने ईवीएम हैक या टेंपर करने के लिए तीन दिन का वक्त दिया था तो आपके साथ अन्य वैज्ञानिक आगे क्यों नहीं आए? रजा ने कहा कि कोई वैज्ञानिक यह चेष्टा करेगा तो गौतम की तरह उसे चोर घोषित कर जेल में डाल दिया जाएगा.

विज्ञान के प्रति अगंभीरता का प्रदर्शन

गौहर रजा ने कहा, प्रधानमंत्री का यह बयान कि भगवान गणेश के समय हमारे देश में प्लास्टिक सर्जरी होती थी. कर्ण स्टेम सेल का उदाहरण है, यह अपने आप में ही विज्ञान के प्रति अगंभीरता का प्रदर्शन है.

Leave a Reply